Friday, 18 May 2012

Chief Justices of India

भारत के मुख्य न्यायाधीश
Chief Justices of  India
नाम


कार्यकाल
हरिलाल जे. कानिया 26 जनवरी 1950 – 6 नवंबर 1951
एम. पतंजलि शास्त्री 7 नवंबर 1951 – 3 जनवरी 1954
मेहर चंद महाजन 4 जनवरी 1954 – 22 दिसंबर 1954
बी.के. मुखर्जी 23 दिसंबर 1954 – 31 जनवरी 1956
एस.आर. दास 01 फरवरी 1956 – 30 सितंबर 1959
भुवनेश्वर प्रसाद सिन्हा 1 अक्टूबर 1959 – 31 जनवरी 1964
पी.बी. गजेंद्रगडकर 1 फरवरी 1964 – 15 मार्च 1966
ए.के. सरकार 16 मार्च 1966 – 29 जून 1966
के. सुब्बा राव 30 जून 1966 – 11 अप्रैल 1967
के.एन. वांचू 12 अप्रैल 1967 – 24 फरवरी 1968
एम. हिदायतुल्लाह 25 फरवरी 1968 – 16 दिसंबर 1970
आई.सी. शाह 17 दिसंबर 1970 – 21 जनवरी 1971
एस.एम. सीकरी 22 जनवरी 1971 – 25 अप्रैल 1973
ए.एन. रे 26 अप्रैल 1973 – 27 जनवरी 1977
एम.एच. बेग 28 जनवरी 1977 – 21 फरवरी 1978
वाई.वी. चंद्रचूड़ 22 फरवरी 1978 – 11 जुलाई 1985
पीएन भगवती 12 जुलाई 1985 – 20 दिसंबर 1986
आर.एस. पाठक 21 दिसंबर 1986 – 18 जून 1989
ई.एस. वेंकटरमैया 19 जून 1989 – 17 दिसंबर 1989
एस. मुखर्जी 18 दिसंबर 1989 – 25 सितंबर 1990
रंगनाथ मिश्र 26 सितंबर 1990 – 24 नवंबर 1991
के.एन. सिंह 25 नवंबर 1991 – 12 दिसंबर 1991
एम.एच. कानिया 13 दिसंबर 1991 – 17 नवंबर 1992
आई.एम. शर्मा 18 नवंबर 1992 – 11 फरवरी 1993
एम.एन. वेंकटचलैया 12 फरवरी 1993 – 24 अक्टूबर 1994
ए.एम. अहमदी 25 अक्टूबर 1994 – 24 मार्च 1997
जे. एस. वर्मा 25 मार्च 1997 – 17 जनवरी 1998
एम.एम. पंछी 18 जनवरी 1998 – 9 अक्टूबर 1998
ए.एस. आनंद 10 अक्टूबर 1998 – 31 अक्टूबर 2001
एस. पी. भरूचा 01 नवंबर 2001 – 5 मई 2002
बी.एन. कृपाल 6 मई 2002 – 7 नवंबर 2002
जी. बी. पटनायक 8 नवंबर 2002 – 18 दिसंबर 2002
वी. एन. खरे 19 दिसंबर 2002 – 1 मई 2004
एस. राजेंद्र बाबू 02 मई 2004 – 31 मई 2004
आर. सी. लाहोटी 01 जून 2004 – 31 अक्टूबर 2005
वाई. के. सब्बरवाल 01 नवंबर 2005 – 14 जनवरी 2007
के. जी. बालकृष्णन 14 जनवरी 2007 – 12 मई 2010
एस. एच. कपाड़िया 12 मई 2010 – अब तक

2 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. Kumarkundan Kusum
    55 minutes ago
    Act NREGA me sansodhan karo aur majduron ke nam se muster roll Bill parit karo
    [According to cpwa code 21 / Treasury code 49 Muster roll wihit wipatr prapatr hai..]

    ReplyDelete